ईशान किशन को हो सकता है करोड़ों रुपये का नुकसान, मुश्किलों में और इजाफा हुआ

 


टीम इंडिया के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज ईशान किशन की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. ईशान किशन पर अब सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट गंवाने का खतरा मंडरा रहा है. रणजी ट्रॉफी में झारखंड की ओर से एक भी मैच नहीं खेलने के बाद बीसीसीआई ने ईशान किशन पर कार्रवाई का मन बनाया है. ईशान किशन पर घरेलू क्रिकेट की बजाए आईपीएल को प्राथमिकता देने के आरोप लग रहे हैं. इतना ही नहीं टीम इंडिया में भी ईशान किशन की वापसी कब होगी इस पर सवाल और ज्यादा गंभीर होता जा रहा है.

ईशान किशन को फिलहाल बीसीसीआई की ओर से सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की सी कैटेगरी में रखा गया है. बीसीसीआई सी कैटेगरी के खिलाड़ियों को सलाना एक करोड़ रुपये फीस देती है. ईशान किशन के बारे में बात करते हुए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ''अभी तक सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट के बारे में बात नहीं की गई है.''

किशन की मुश्किलें लगातार बढ़ी

ईशान किशन की मुश्किलों की शुरुआत उस वक्त हुई जब उन्होंने मानसिक स्वास्थ्य का हवाला देकर दक्षिण अफ्रीका दौरे से नाम वापस ले लिया. इसके बाद ईशान किशन को अफगानिस्तान के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए टीम में जगह नहीं मिली. ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में किशन की वापसी हो सकती है. लेकिन ऐसा भी नहीं हुआ. पहले किशन को शुरुआती दो टेस्ट से बाहर रखा गया. इसके बाद आखिरी तीन टेस्ट के लिए भी किशन को टीम इंडिया में जगह नहीं मिली.

टीम इंडिया के कोच राहुल द्रविड़ ने साफ कर दिया था कि ईशान किशन को वापसी करने के लिए घरेलू क्रिकेट खेलना होगा. लेकिन किशन ने इस बात को नहीं माना और वह झारखंड की ओर से सभी रणजी मैचों से बाहर रहे. इस शर्त को पूरा नहीं करने के चलते अब किशन पर वापसी पर तलवार लटकी हुई नज़र आ रही है.

Previous Post Next Post