अयोध्या में रामलला के दर्शन के लिए उमड़ी भीड़, टाइमिंग से लेकर व्यवस्था तक जानें सबकुछ - Ram Lala ka Darshan


AYODHYA
. Shri Ram Temple Ayodhya: अयोध्या के राम मंदिर में रामलला विराजमान हो गए हैं. अयोध्या में भव्य राम मंदिर आज से जनता के लिए खोल दिया गया है. सोमवार को अयोध्या में संपन्न हुए रामलला के 'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के बाद मंगलवार को श्री राम मंदिर के मुख्य द्वार पर पूजा-अर्चना के लिए भक्तों की भारी भीड़ (Heavy rush of devotees ) उमड़ी. प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद पहली सुबह श्री राम लला की पूजा-अर्चना करने और उनके दर्शन करने के लिए भक्त सुबह 3 बजे से ही बड़ी संख्या में इकट्ठा हो गए हैं.

अयोध्या में श्री राम लला की 'प्राण प्रतिष्ठा' अनियंत्रित उत्सवों के बीच आयोजित की गई, जिसमें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनिंदा पुजारियों की देखरेख में मुख्य अनुष्ठान किए.

अभिजीत मुहुर्त में उनकी प्राण-प्रतिष्ठा की गई. इस दौरान गर्भ गृह में प्रधानमंत्री मोदी के साथ संघ प्रमुख मोहन भागवत, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी मौजूद रहीं. अयोध्या में हज़ारों लोग इस ऐतिहासिक अवसर के साक्षी बने. प्रधानमंत्री मोदी और प्रमुख पुजारी लक्ष्मीकांत दीक्षित मुख्य यजमान रहे. उन्होंने कमल के फूल से रामलला की पूजा-अर्चना की और फिर रामलला के चरणों में साष्टांग हो गए.

प्राण प्रतिष्ठा के बाद आज से सभी लोगों के लिए मंदिर के कपाट खुल गए हैं. अब आम लोग रामलला के दर्शन कर रहे हैं. मंगलवार को एक लाख से ज़्यादा श्रद्धालुओं के राम मंदिर पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है. जानकाारी के मुताबिक, सुबह सात बजे से 11.30 तक और दोपहर 2 बजे से शाम सात बजे तक दर्शन हो सकेंगे. 

राम मंदिर में विराजमान हुए रामलला 

84 सेकंड का ये मुहूर्त बहुत शुभ माना जा रहा था. कहते हैं इसी मुहूर्त में राम ने जन्म लिया था. इस आध्यात्मिक अवसर पर देश के तमाम क्षेत्रों के गणमान्य लोग उपस्थित रहे. इसे भारत के आध्यात्मिक उदय का क्षण माना जा रहा है. प्राण प्रतिष्ठा के बाद मंदिर प्रांगण में पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि सदियों के अभूतपूर्व धैर्य, अनगिनत बलिदान और तपस्या के बाद हमारे राम आ गए हैं. आज से 1,000 साल बाद भी आज की तारीख़ की चर्चा होगी. प्रधानमंत्री मोदी ने अपना भाषण राम-राम से शुरू किया और जय सियाराम पर ख़त्म किया. इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने 11 दिन के विशेष अनुष्ठान का व्रत खोला. निर्मोही अखाड़े के स्वामी गोविंद गिरि महाराज ने उन्हें जल पिलाया. प्रधानमंत्री मोदी राम मंदिर निर्माण में योगदान देने वाले श्रमिकों से भी मिले और फूल बरसाकर उनका आभार प्रकट किया.

प्राण प्रतिष्ठा के बाद देशभर में मनाई गई दीवाली 

अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद पूरे देश में जश्न का माहौल है. देशभर में दीवाली मनाई गई. लोगों ने अपने अपने घरों में दीप जलाए. जमकर आतिशबाजी हुई. अयोध्या लाखों दीपक से जगमग है. अयोध्या से लेकर जनकपुर, दिल्ली से लेकर चेन्नई तक लोग अपने अपने घरों में दीपोत्सव मना रहे हैं, आतिशबाज़ी कर रहे हैं. अयोध्या में राम की पैड़ी पर एक लाख से ज़्यादा दीये जलाकर रामलला का स्वागत किया गया.

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के मुताबिक प्राण प्रतिष्ठा के बाद राम मंदिर, आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है. 23 जनवरी से आम श्रद्धालु रामलला के दर्शन कर सकेंगे.अयोध्या में राम मंदिर सुबह 7:00 बजे से दोपहर 11:30 बजे तक और इसके बाद 2:00 बजे से 7:00 तक आम श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खुला रहेगा. दोपहर में करीब ढाई घंटे भोग व विश्राम के लिए मंदिर बंद रहेगा.

Previous Post Next Post