प्रेशर पॉलिटिक्स का असर! I.N.D.I.A गठबंधन के संयोजक बन सकते हैं नीतीश कुमार

 


इंडिया गठबंधन से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है. सूत्रों के मुताबिक, बिहार के सीएम नीतीश कुमार इंडिया गठबंधन के संयोजक बन सकते हैं. नीतीश कुमार को कांग्रेस संयोजक बना सकती है. नीतीश के एक्शन से कांग्रेस में खलबली मच गई है. दरअसल, दिल्ली में जेडीयू की राष्ट्रीय परिषद में सीएम नीतीश ने कांग्रेस से नाराजगी जताई थी. कांग्रेस पर नीतीश कुमार ने हमला बोला था.

दरअसल, नीतीश कुमार में दिल्ली में हुई जेडीयू की बैठक में कांग्रेस को निशाने पर लिया था. सीएम नीतीश ने कहा था कि कांग्रेस उनके द्वारा किए गए कार्यों की चर्चा नहीं करती है. इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि बीजेपी उनके काम को अपने काम में जोड़ लेती है. इससे पहले भी विधानसभा चुनावों के दौरान नीतीश कुमार ने कांग्रेस पर तंज किया था. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस का ध्यान इंडिया गठबंधन से ज्यादा विधानसभा चुनावों पर है. जेडीयू की बैठक में नीतीश कुमार का कांग्रेस पर हमला 'प्रेशर पॉलिटिक्स' की तरह देखा गया.

नीतीश कुमार क्यों बन सकते हैं संयोजक?

नीतीश कुमार को संयोजक बनाने के कई कारण हो सकते हैं. पहला ये कि उन्होंने विपक्षी नेताओं को एकजुट करने का काम किया. बीते साल में नीतीश कुमार ने देश के अलग-अलग राज्यों का दौरा किया था और विपक्षी नेताओं/सीएम से मुलाकात की थी. नीतीश ने बीजेपी के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने में अहम भूमिका निभाई. दूसरा ये कि नीतीश कुमार को इंडिया गठबंधन के सूत्रधार के तौर पर देखा जाता है. उन्होंने विपक्ष को साथ चुनाव लड़ने का सुझाव दिया था. जून 2023 में 15 दलों को एक मंच पर उन्होंने साथ लाया था.

नाराज बताए था जा रहे नीतीश कुमार?

दिल्ली में इंडिया गठबंधन की बैठक में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से पीएम फेस के लिए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे का नाम आगे किया था. इसका समर्थन दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने किया था. सूत्रों के मुताबिक, इसके बाद से नीतीश कुमार नाराज बताए जा रहे थे. क्योंकि न तो उन्हें संयोजक बनाया गया और न ही पीएम का चेहरा घोषित किया गया. हालांकि, कई मौके पर नीतीश कुमार ने कहा कि वो कोई पद नहीं चाहते हैं. 

Previous Post Next Post