गैंगस्टर गोल्डी बराड़ पर एक्शन, सरकार ने आतंकी घोषित किया

 


केंद्र सरकार ने सोमवार (1 जनवरी) को गैंगस्टर गोल्डी बराड़ को गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) के तहत आतंकवादी घोषित कर दिया. गृह मंत्रालय की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि गोल्डी बरार प्रतिबंधित खालिस्तानी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल से जुड़ा है.

गृह मंत्रालय ने कहा कि गोल्डी बराड़ को सीमा पार स्थित आतंकवादी एजेंसियों का समर्थन मिलता है और वह कई हत्याओं में शामिल रहा है. नोटिस मे कहा गया कि बरार राष्ट्रवादी नेताओं को धमकी भरे कॉल करने, फिरौती मांगने और सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर हत्याओं के दावों को पोस्ट करने में शामिल था.

हथियारों की तस्करी में शामिल था गोल्डी बराड़

गृह मंत्रालय ने कहा कि गोल्डी बराड़ सीमा पार से ड्रोन के माध्यम से आधुनिक हथियार, गोला-बारूद और विस्फोटक सामग्री की तस्करी में शामिल था. वह हत्याओं को अंजाम देने के लिए इन हथियारों को शार्प शूटरों को सप्लाई करता था. 

'देश विरोधी गतिविधियों की रची साजिश'

मंत्रालय ने कहा कि वह और उसके सहयोगी तोड़फोड़ करने, आतंकी मॉड्यूल को खड़ा करने, लक्षित हत्याओं को अंजाम देने और पंजाब में अशांति फैलाने, सांप्रदायिक सद्भाव, कानून व्यवस्था को बाधित करने और देश विरोधी गतिविधियों की साजिश रचने में शामिल थे.

सिद्धू मूसेवाला की हत्या की ली थी जिम्मेदारी

कनाडा स्थित आतंकवादी ने 2022 में पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या की भी जिम्मेदारी ली थी. गौरतलब है कि मूसेवाला की मई 2022 में पंजाब के मनसा जिले में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. सिद्धू मूसेवाला की हत्या के कुछ दिनों बाद इंटरपोल ने जून 2022 में गोल्डी बराड़ के प्रत्यर्पण के लिए रेड कॉर्नर नोटिस (RCN) जारी किया था.


Previous Post Next Post