चुनाव रिजल्ट को मायावती ने बताया 'विचित्र परिणाम', कहा- गले से नीचे उतर पाना मुश्किल - Mayawati


लखनऊ: देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके हैं। इनमें से चार राज्यों के परिणाम भी घोषित हो चुके हैं, तो वहीं एक राज्य मिजोरम में आज मतगणना जारी है। वहीं चार राज्य जिनके परिणाम घोषित हो चुके हैं, उनमें भारतीय जनता पार्टी ने तीन राज्यों में बहुमत के साथ जीत हासिल की है। ऐसे में बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने भाजपा की इस जीत को लेकर कहा कि यह विचित्र परिणाम गले के नीचे उतर पाना बहुत मुश्किल है। साथ ही उन्होंने बसपा के कार्यकर्ताओं से लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट जाने की अपील की है। उन्होंने 10 दिसंबर को लखनऊ में होने वाली बसपा की बैठक की भी जानकारी दी है। इस बैठक में आगामी योजनाओं पर चर्चा की जाएगी।  

चुनाव परिणाम एकतरफा हो जाना रहस्यात्मक मामला

मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा कि देश के चार राज्यों में अभी हाल ही में हुए विधानसभा आमचुनाव के आए परिणाम एक पार्टी के पक्ष में एकतरफा होने से सभी लोगों का शंकित, अचंभित व चिन्तित होना स्वाभाविक। क्योंकि चुनाव के पूरे माहौल को देखते हुए ऐसा विचित्र परिणाम लोगों के गले के नीचे उतर पाना बहुत मुश्किल है। उन्होंने आगे लिखा कि पूरे चुनाव के दौरान माहौल एकदम अलग व काँटे के संघर्ष जैसा दिलचस्प रहा, किन्तु चुनाव परिणाम उससे बिल्कुल अलग होकर पूरी तरह से एकतरफा हो जाना, यह ऐसा रहस्यात्मक मामला है जिसपर गंभीर चिन्तिन व उसका समाधान जरूरी। लोगों की नब्ज पहचानने में भयंकर 'भूल-चूक' चुनावी चर्चा का नया विषय।

लोकसभा चुनाव की नए सिरे से तैयारी

मायावती ने एक्स पर लिखा कि बीएसपी के सभी लोगों ने पूरे तन, मन, धन व दमदारी के साथ यह चुनाव लड़ा, जिससे माहौल में नई जान आई। किन्तु उन्हें ऐसे अजूबे परिणाम से निराश कतई भी नहीं होना है बल्कि परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के जीवन संघर्षों से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ने का प्रयास करते रहना है। आगे उन्होंने लिखा कि इस चुनावी परिणाम के संदर्भ में जमीनी रिपोर्ट लेकर आगे लोकसभा चुनाव की नए सिरे से तैयारी पर विचार-विमर्श के लिए पार्टी की आल इण्डिया की बैठक आगामी 10 दिसम्बर को लखनऊ में आहुत करेगी। चुनाव परिणाम से विचलित हुए बिना अम्बेडकरवादी मूवमेन्ट आगे बढ़ने का हिम्मत कभी भी नहीं हारेगा।

Previous Post Next Post