'सड़क किनारे चलने वाले नॉन वेज स्टॉल बंद करें', धमकी देने वाले BJP विधायक स्वामी बाल मुकुंदाचार्य कौन हैं?

 


राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 के परिणाम आ चुके हैं. यहां बीजेपी ने कांग्रेस को मात देकर पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया. वहीं, हवा महल सीट पर भी बीजेपी ने कब्जा कर लिया. यहां से बीजेपी उम्मीदवार स्वामी बालमुकुंद आचार्य ने कांग्रेस प्रत्याशी आरआर तिवारी को 974 वोटों से शिकस्त दी.


जीत के बाद स्वामी बालमुकुंद सुर्खियों में आ गए हैं. दरअसल, उनका का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में बाल मुकुंद आचार्य यूपी की तर्ज पर सड़क किनारे बिकने और बनने वाले नॉन वेज को लेकर जयपुर नगर निगम के किसी अधिकारी को इस गतिविधि को बंद करने के निर्देश दे रहे हैं.


रविवार (3 दिसंबर) को हुई मतगणना में कांटे की टक्कर देखने को मिली. स्वामी बालकमुंद आचार्य को कुल 95989 मत मिले, जबकि तिवारी को 95015 वोट मिले. इससे पहले बीजेपी ने उन्हें टिकट देकर सबको चौंका दिया था. 


कौन हैं स्वामी बालमुकुंद आचार्य?

स्वामी बालमुकुंद हाथोज धाम के महंत हैं और राजस्थान में उन्हें हिंदूवादी नेता के रूप में देखा जाता है. वह जयपुर मठ-मंदिर पुजारी महासंघ के अध्यक्ष भी हैं.  



'धर्म की रक्षा करूंगा'

बीजेपी ने जब उन्हें उम्मीदवार बनाया तो सभी हैरान रह गए थे. टिकट मिलने पर उन्होंने कहा था कि हवा महल से ऐसी हवा चल रही है, जिससे पूरे राजस्थान में कमल खिलेगा. उन्होंने कहा कि धर्म की रक्षा करना मेरी जिम्मेदारी है और मैं इसकी रक्षा करता रहूंगा.


'मैं सनातनी हूं'

उन्होंने कहा था, "यह सनातनियों का देश है और सनातन में लोकतंत्र है, जिसमें सभी के अपने अधिकार हैं. मैं सनातनी हूं और अपने विषय को लेकर काम कर रहा हूं." राजस्थान में मुसलमानों को बीजेपी से टिकट नहीं मिलने पर उन्होंने कहा कि टिकट देना पार्टी का विषय है न कि मेरा.


राजस्थान में बीजेपी को बहुमत

रविवार (3 दिसबंर) को आए नतीजों के मुताबिक बीजेपी ने 199 विधानसभा सीट में 115 पर जीत हासिल की. वहीं कांग्रेस को 69 सीटों से ही संतोष करना पड़ा, जबकि 2 सीटें बीएसपी और 13 सीटों पर अन्य दलों ने बाजी मारी. 

Previous Post Next Post