'मास्क पहनें, भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचें': कोरोना केस बढ़ने पर कर्नाटक में अलर्ट, सरकार ने जारी की एडवाइजरी

 


देश भर में कोविड-19 मामलों में ताजा वृद्धि के मद्देनजर कर्नाटक सरकार ने मंगलवार को एक कोविड-19 एडवाइजरी जारी की है. इसके अनुसार, 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों, अन्य बीमारियों से ग्रस्त लोगों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को बाहर निकलने पर फेस मास्क पहनना चाहिए. लोगों को बंद, खराब हवादार स्थानों और भीड़-भाड़ वाले इलाकों में जाने से सख्ती से बचना चाहिए. राज्य की यह एडवाइजरी, केंद्र द्वारा जारी की गई एडवाइजरी के एक दिन बाद आई है. केरल में JN.1 कोविड सब वैरिएंट का पता चलने के बाद पिछले कुछ दिनों में कोविड सलाह और उपायों पर ध्यान बढ़ गया है, जो भारत में इस तरह का पहला मामला है.


स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू राव ने संवाददाताओं से कहा कि किसी को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. हमने परसों एक बैठक की थी और डॉ. (के) रवि की अध्यक्षता में हमारी तकनीकी सलाहकार समिति की कल बैठक हुई थी. हमारे अधिकारियों और विशेषज्ञों के बीच रोकथाम के उपायों के बारे में चर्चा हुई थी. फिलहाल पड़ोसी राज्य केरल से लोगों की आवाजाही पर कोई रोक नहीं है.


इस बीच, केंद्र सरकार ने नए सबवेरिएंट JN1 के बारे में चिंताओं पर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह जारी की है. राज्यों ने सभी स्वास्थ्य सुविधाओं में जिलेवार इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी (आईएलआई) और गंभीर तीव्र श्वसन बीमारी (एसएआरआई) मामलों की निगरानी और रिपोर्ट करने को कहा है.


कर्नाटक की एडवाइजरी में केरल और तमिलनाडु की सीमा से लगे जिलों के अधिकारियों को सतर्क रहने और पर्याप्त परीक्षण और कोविड मामलों की समय पर रिपोर्टिंग सुनिश्चित करने को कहा गया है.

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण सेवाओं के आयुक्त, रणदीप डी द्वारा जारी कर्नाटक एडवाइजरी में कहा कि देश में कोविड-19 के ताजा हालात और JN.1 सब वैरिएंट को लेकर सभी उपायों का पालन करने की सलाह दी जाती है. इसमें कहा गया कि सभी बुजुर्ग (60 वर्ष और उससे अधिक), बीमार (विशेष रूप से गुर्दे, हृदय, यकृत की बीमारियों आदि के साथ), गर्भवती महिलाएं और स्तनपान कराने वाली माताएं, जब बाहर जाएं, तो फेस मास्क जरूर पहनें. बंद, खराब हवादार स्थानों और भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से सख्ती से बचें.

Previous Post Next Post