BPSC पास महिला टीचर्स को केके पाठक ने दी ये बड़ी खुशखबरी, पुरुष टीचरों को भी मिल सकता है लाभ

 


बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की ओर से चयनित महिला टीचरों को शिक्षा विभाग की एक और खुशखबरी दी गई है। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के आदेश के बाद महिला टीचर्स जोर-शोर से स्कूटी और कार चलाना सीख रही हैं। वहीं अब शिक्षा विभाग की ओर से बीपीएससी पास नवनियुक्त शिक्षकों को दिसंबर के अंत तक एक आकस्मिक अवकाश की सुविधा देने का फैसला लिया। इसके अलावा महिला टीचरों को 2 दिनों का विशेष अवकाश भी मिलेगा। इसकी स्वीकृति संबंधित स्कूल के हेडमास्टर की ओर से दी जाएगी। शिक्षा विभाग की ओर से यह भी स्पष्ट किया गया है कि इसके अतिरिक्त किसी भी अन्य अवकाश की स्वीकृति स्कूल के हेडमास्टर की अनुशंसा पर जिला शिक्षा पदाधिकारी की ओर से दी जाएगी।

स्कूटी-कार ड्राइविंग की ट्रेनिंग के बाद अब 3 दिनों की छुट्टी

बिहार में बीपीएससी से चयनित एक लाख 10 हजार से अधिक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र सौंपा गया था। लेकिन इनमें से करीब 22 हजार शिक्षकों ने अंतिम तिथि समाप्त होने के बावजूद ड्यूटी ज्वाइन नहीं की। ड्यूटी ज्वाइन नहीं करने के साथ ही विभिन्न जिलों के करीब 50 शिक्षकों ने इस्तीफा भी दे दिया है। इसके पीछे कई कारण है। जिसमें प्रमुख कारण है कि बीपीएससी पास कई शिक्षकों की ड्यूटी सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों में लगाई। जिनमें महिला टीचर भी शामिल हैं। इन महिला टीचरों की परेशानियों को देखते हुए अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने उन्हें स्कूटी और कार चलाने की ट्रेनिंग देने की बात कही। इसका असर भी देखने को मिल रहा है। बड़ी संख्या में महिला टीचर्स विभिन्न जिलों में ड्राइविंग सीख रहीं हैं।

3 दिन की छुट्टी मिलने से महिला टीचरों की परेशानी होगी दूर

बीपीएससी से पास टीचरों को पहली सैलरी भी मिल गई है। वहीं लगातार ड्यूटी करने और घरेलू कार्याें को देखते हुए कई महिला टीचरों की ओर से भी लगातार छुट्टी देने का भी आग्रह किया जा रहा था। अब शिक्षा विभाग की ओर से इनकी परेशानियों को दूर करने का फैसला लिया गया है। दिसंबर महीने में शेष बचे 20 दिनों में पूर्व से घोषित अवकाश के अलावा महिला शिक्षकों को तीन अतिरिक्त अवकाश मिल सकेगा। जबकि पुरुष शिक्षक भी जरूरत पड़ने पर हेडमास्टर से स्वीकृति लेकर एक दिन की छुट्टी ले सकेंगे।

11 से 16 दिसंबर तक मध्य विद्यालयों के शिक्षकों के लिए ट्रेनिंग

शिक्षा विभाग की ओर से राज्य के विभिन्न जिलों के मध्य और उत्क्रमित स्कूलों के कक्षा 6 से 8 तक के हिन्दी, अंग्रेजी, उर्दू और अन्य भाषा के शिक्षकों के लिए ट्रेनिंग कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। छह दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम विभिन्न ट्रेनिंग संस्थानों में आयोजित है। प्रशिक्षण के लिए रजिस्ट्रेशन 10 दिसंबर को अपराह्न 5 बजे से प्रारंभ हो जाएगा। 11 से 16 दिसंबर तक सुबह 5.30बजे से 6.30 बजे तक प्रतिदिन योगा और पीटी होगा, इसके बाद प्रशिक्षण पूर्वाह्न 8.30बजे से शाम 7.30बजे तक संचालित होगा। कटिहार जिले में 260, पश्चिम चम्पारण के 120, लखीसराय के 150, जमुई के 70, नालंदा के 60, सीतामढ़ी के 300, पूर्वी चंपारण के 390, सारण के 300, मधेपुरा के 390, सारण के 300, समस्तीपुर के 196 शिक्षकों को ट्रेनिंग दी जाएगी।

Previous Post Next Post