"आतंकवादी संगठन": बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने मतदान बहिष्कार को लेकर विपक्ष पर बोला हमला | Bangladesh Election


Foreign Desk, Kolkata:
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि राष्ट्रीय चुनावों का बहिष्कार करने वाली मुख्य पार्टी एक "आतंकवादी संगठन" है. उन्होंने कहा कि वह यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रही हैं कि उनका देश लोकतांत्रिक बना रहे. दरअसल बांग्लादेश में आम चुनाव के लिए रविवार को मतदान शुरू हो गए हैं. बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) उन दर्जनों पार्टियों में से एक है, जिन्होंने चुनाव में भाग लेने से इनकार करते हुए कहा कि यह न तो स्वतंत्र होगा और न ही निष्पक्ष.

प्रधानमंत्री हसीना ने स्थानीय समयानुसार आठ बजकर तीन मिनट पर ढाका सिटी कॉलेज मतदान केंद्र पर अपना वोट डाला. इस दौरान उनकी बेटी साइमा वाजिद भी उनके साथ थीं. सिटी कॉलेज में वोट डालने के बाद संवाददाताओं से बांग्लादेशी की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि बीएनपी एक आतंकवादी संगठन है. हसीना ने कहा, मैं यह सुनिश्चित करने की पूरी कोशिश कर रही हूं कि इस देश में लोकतंत्र कायम रहे. चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष होगा.

हसीना (76) वर्ष 2009 से सत्ता में हैं और उनकी पार्टी आवामी लीग ने दिसंबर 2018 में पिछला चुनाव भी जीता था. बीएनपी ने 2014 के चुनाव का बहिष्कार किया था लेकिन 2018 के चुनाव में भाग लिया था.

प्रधानमंत्री हसीना की सत्तारूढ़ आवामी लीग के लगातार चौथी बार जीतने की उम्मीद है क्योंकि पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया (78) की पार्टी बीएनपी ने चुनाव का बहिष्कार किया है. खालिदा भ्रष्टाचार के आरोपों में दोषी ठहराए जाने के बाद घर में नजरबंद हैं.

बीएनपी ने शनिवार से 48 घंटे की देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है. जो 27 राजनीतिक दल चुनाव लड़ रहे हैं उनमें विपक्षी जातीय पार्टी भी शामिल है. बाकी सत्तारूढ़ अवामी लीग की अगुवाई वाले गठबंधन के सदस्य हैं जिसे विशेषज्ञों ने ‘‘चुनावी गुट'' का घटक सदस्य बताया है.

Previous Post Next Post