AAP नेता करते रहे अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी का दावा, उधर ED कर रही चौथा समन भेजने की तैयारी


नई दिल्ली:
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी आज नहीं होगी. प्रवर्तन निदेशालय सीएम केजरीवाल के जवाब की जांच करेगा और जल्द ही पूछताछ के लिए उनको चौथा नोटिस भेजेगा,आज कोई पूछताछ या गिरफ्तारी नहीं की जाएगी. सूत्रों के हवाले से ये जानकारी सामने आई है. बता दें कि दिल्ली आबकारी नीति घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समन को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Chief Minister Arvind Kejriwal) ने बुधवार को तीसरी बार नजर अंदाज कर दिया, जिसके बाद पार्टी नेताओं ने दावा किया था कि ईडी की टीम सीएम केजरीवाल को उनके घर से गिरफ्तार कर सकती है.

AAP प्रवक्ता जैस्मिन शाह ने कहा कि पिछली रात पुख्ता सूत्रों से अरविंद केजरीवाल की गिरफ़्तारी की ख़बर मिली. उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल की गिरफ़्तारी का समन BJP दफ़्तर से निकलेगा. ईडी सिर्फ विपक्षी नेताओं पर ही एक्शन लेती है.

पहले बढ़ाई गई थी केजरीवाल के घर की सुरक्षा

AAP सूत्रों के मुताबिक पहले दिल्ली सीएम के घर की तरफ जाने वाले दोनों रास्ते पुलिस ने बंद कर दिए थे. मुख्यमंत्री आवास के स्टाफ को भी वहां जाने से रोका जा रहा था. इस बीच खबर आई कि अरविंद केजरीवाल के घर की सुरक्षा कम कर दी गई. सीएम केजरीवाल के घर जाने वाले दोनों रास्ते खोल दिया गया. बता दें कि कल रात से ही केजरीवाल के घर के बाहर पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गई थी.इस बीच मुख्यमंत्री केजरीवाल के घर के बाहर तक भी मीडिया कर्मियों को जाने की इजाजत दे दी गई और मीडिया के लिए अलग से जगह बनाई गई है, जो आमतौर पर सामान्य दिनों में नहीं होती.

आज हो सकती है सीएम केजरीवाल की गिरफ्तारी-आतिशी

इस बीच आम आदमी पार्टी नेताओं ने दावा किया था कि आज प्रवर्तन निदेशालय अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर सकती है. AAP नेता और मंत्री आतिशी ने ट्वीट कर ये दावा किया.

सीएम केजरीवाल का ED को जवाब

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को जांच एजेंसी ईडी को लिखा कि वह राज्यसभा चुनाव और गणतंत्र दिवस की तैयारियों में व्यस्त हैं, लेकिन एजेंसी की किसी भी प्रश्नावली का जवाब देने के लिए तैयार हैं.‘आप' प्रमुख ने एजेंसी से अपने पहले के पत्रों का जवाब देने के लिए कहा जिसमें उन्होंने कथित पूछताछ और जांच के लिए बुलाए जाने से जुड़े वास्तविक इरादे और इस पूछताछ की प्रकृति और दायरे को लेकर स्पष्टीकरण मांगा था. 

Previous Post Next Post