कोरोना को लेकर मन में बढ़ रहा डर... 24 घंटों में 12 लोगों की मौत, कब मिलेगी राहत?

 


ठंड की दस्तक के साथ कोरोना के मामले भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं. वैश्विक स्तर पर भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इस बार यह खतरा एक नए वेरिएंट का है, जो काफी तेजी से फैलता जा रहा है. इस वेरिएंट को लेकर कई लोगों के मन में डर भी है क्या इसी तरीके से इसके मामले बढ़ते रहेंगे? देखते देखते जेएन-1 के मामले 500 से भी ज्‍यादा हो गए हैं. सबसे ज्‍यादा मामले कर्नाटक से मिल रहे हैं.

देश में कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी जारी है. लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटे के दौरान देश में कोरोना के 761 नए मामले सामने आए हैं और बीते 24 घंटों में 12 लोगों की मौत भी हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या 4,334 तक पहुंच गई है. कोरोना के सब वेरिएंट JN.1 के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है.  3 जनवरी तक  JN.1 के 541 मामले सामने आए है. कोरोना का यह नया वेरिएंट 11 राज्यों में फैल चुका है.

केरल में  JN.1 के  148 मामले सामने आए हैं. इसके अलावा गोवा से 47, गुजरात से 36, महाराष्ट्र से 32, दिल्ली से 15, कर्नाटक से 199, राजस्थान से 4, तेलंगाना से 2  और ओडिशा 1 से एक मामला सामने आए हैं.

कब कम होंगे केस, अभी कितना खतरा

हेल्थ एक्सपर्ट्स समीर भाटी ने बातचीत में कहा कि सर्दियों के दौरान हमारी इम्यूनिटी डाउनफॉल में चली जाती है. कई तरह के वायरस सर्कुलेट होते हैं और इन्हें कॉकटेल ऑफ वायरस कहा जाता है. इन्फ्लूएंजा और कई तरह के रेस्पिरेट्री इनफेक्शन होते हैं. उनका ट्रांसमिशन भी बढ़ जाता है. ओम‍िक्रोन के जो सब वेरिएंट द‍िख रहे हैं और जिस तरीके से पनप रहे हैं उसी के चलते मामले बढ़ रहे हैं, हालाकि घबराने कि स्थिति नहीं है.


जेएन-1 के मामले वैश्विक स्तर पर भी तेजी से फैल रहे है. अगर हम ट्रेंड की बात करें तो हर साल ठंड में मामले बढ़ते है. इस वक्त बहुत ज्यादा जरूरी है कि अपने लक्षणों को समझें और ध्यान रखें और आने वाले वक्त में मामले कम भी हो सकते हैं. सीनियर डॉक्टर अरुण गुप्ता ने न्यूज18 से बातचीत में कहा कि राज्यों में जेएन-1 के मामले देखें जा रहे हैं, जिन लोगों का हॉस्पिटलाइजेशन हो रहा है या मृत्यु हुई है तो उसमें कोरोना का रोल कम है उसके साथ-साथ उनको और भी बीमारियां थी, जिसके चलते मृत्यु हुई हैं.


सरकार की तरफ से तैयारी पूरी है सरकार पूरी तरीके से अलर्ट पर है. अभी घबराने की कोई जरूरत नहीं है, लेकिन सावधानी बरतने की जरूरत जरूर है.

Previous Post Next Post