छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ कैंप बड़ा नक्सली हमला, तीन जवान शहीद और 14 घायल

 


छत्तीसगढ़ के सुकमा और बीजापुर जिले के सरहदी इलाके टेकलगुड़ेम में नक्सलियों ने मंगलवार को एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया है. सीआरपीएफ कोबरा और DRG की संयुक्त  जवानों की  टीम पर नक्सलियों  द्वारा फायरिंग करने से 3 जवान शहीद हो गए जबकि 14 जवान घायल हो गए हैं, जिसमें एक जवान की हालत काफी गंभीर बताई जा रही है.


टेकलगुड़ेम में आज ही खुला पुलिस ने नया कैंप 


दरअसल मंगलवार को ही टेकलगुड़ेम में पुलिस ने नया कैंप स्थापित किया है. इस कैम्प की सुरक्षा में लगे जवान कैंप की स्थापना के बाद जूनागुड़ा-अलीगुड़ा इलाके में गश्त पर निकले हुए थे, इसी दौरान पहले से ही घात लगाए नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग की और 100 से ज्यादा बीजीएल भी दागे, जवानों ने भी तुरंत मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्यवाही की. 


बताया जा रहा है कि दोनों ओर से करीब तीन से चार घंटे तक फायरिंग चली, इस दौरान नक्सलियों ने 100 से अधिक बीजीएल (बैरल ग्रेनेड लॉन्चर) जवानों पर दागे, जिससे कई जवान घायल हुए और 3 जवानों  को गोली लगने से शहीद हो गए. कुछ घायल जवानों की हालत गंभीर बताई जा रही है. फिलहाल जवानों को बेहतर इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से रायपुर रेफर किया जा रहा है. बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने घटना की पुष्टि की है.


नक्सलियों ने साल 2021 में भी किया था हमला


बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने बताया कि लगातार नक्सलियों के कोर इलाके में पुलिस नए कैंप स्थापित कर रही है. सुकमा-बीजापुर के सरहद पर मौजूद टेकलगुड़ेम में भी मंगलवार को ही नया कैंप स्थापित किया गया है. यह वही इलाका है जहां नक्सलियों ने साल 2021 में जवानों को एंबुश में फंसा कर उन पर फायरिंग की थी, जिसमें 23 जवानों की शहादत हो गई थी, उसके बाद से इस इलाके में नक्सलियों की पैठ कमजोर करने के लिए लगातार पुलिस यहां कैंप स्थापित करने की रणनीति बना रही थी, और मंगलवार को सीआरपीएफ और डीआरजी जवानों के मौजूदगी में बकायदा यहां कैंप स्थापित किया गया.


इसी कैंप की सुरक्षा के लिए आसपास के इलाके में एरिया डोमिनेशन के लिए सीआरपीएफ कोबरा और डीआरजी के संयुक्त जवानों की टीम को भेजा गया था, इसी पुलिस पार्टी पर नक्सलियों ने हमला किया.मुठभेड़ की सूचना मिलने के साथ ही तुरंत टेकलगुड़ेम कैंप से अतिरिक्त पुलिस फोर्स को रवाना किया गया, जहां पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली भाग खड़े हुए.


आईजी का कहना है कि इस मुठभेड़ में कई नक्सलियों को भी गोली लगी है, इंटेलिजेंस रिपोर्ट के मुताबिक नक्सली एक बार फिर साल 2021 की तरह ही जवानों को बड़ा नुकसान पहुचाने के लिए टेकलगुड़ेम कैंप में हमला करने की तैयारी में थे, करीब 200 की संख्या में नक्सलियों  ने  एमबुश बनाकर जवानों पर फायरिंग की जिसमें 3 जवानों को गोली लगने से शहादत हो गई और 14 जवान घायल हो गए हैं.

घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से रायपुर रेफर करने की तैयारी की जा रही है.

Previous Post Next Post