आपसी संबंधों को सहेजने में जुटे चीन और अमेरिका, इजरायल-हमास युद्ध पर लिया ये फैसला - US China Relationship


FOREIGN DESK:
चीन-अमेरिका के बीच रिश्ते सुधारने का प्रयास लगातार जारी है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात के बाद दोनों देशों के बीच चल रहे तनाव को दूर करने की कोशिशें लगातार जारी हैं। अमेरिका और चीन के शीर्ष मंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों में हालिया प्रगति को जारी रखने और गाजा में इजराइल-हमास संघर्ष को फैलने से रोकने के लिए मिलकर काम करने पर बुधवार को सहमति व्यक्त की। चीन के विदेश मंत्री वांग यी और अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने टेलीफोन पर हुई बातचीत में दोनों देशों के बीच कई वर्षों के खराब संबंधों के बाद पिछले महीने सैन फ्रांसिस्को में नेताओं के बीच हुई मुलाकात का उल्लेख किया।

चीन के विदेश मंत्रालय के अनुसार, वांग ने कहा, ‘‘वर्तमान समय में दोनों पक्षों के लिए महत्वपूर्ण कार्य सैन फ्रांसिस्को बैठक के सकारात्मक प्रभाव को जारी रखना, दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों के बीच बनी सहमति को लागू करना और चीन-अमेरिका संबंधों को स्थिर करने की गति को मजबूत करना है।’’ अमेरिकी विदेश विभाग के अनुसार, ब्लिंकन ने इस बात पर भी जोर दिया कि दोनों पक्षों को शिखर बैठक में प्रगति पर आगे बढ़ना चाहिए। राष्ट्रपति जो बाइडन और राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच हुई बैठक में दोनों नेता बातचीत जारी रखने और दोनों देशों की सेनाओं के बीच वार्ता फिर से शुरू करने पर सहमत हुए थे। फिर भी, देशों के बीच प्रमुख राजनीतिक मतभेद सुलझाने की दिशा में कोई प्रगति नहीं हुई है। 

इजरायल-हमास युद्ध पर हुई ये बात

वांग और ब्लिंकन ने इजराइल-हमास युद्ध पर भी चर्चा की, जहां चीन बातचीत में भूमिका निभाने की कोशिश कर रहा है और स्थिति पर संवाद बनाए रखने पर सहमत हुए। ब्लिंकन ने यमन के हूथी विद्रोहियों द्वारा लाल सागर में मालवाहक जहाजों पर हाल के हमलों को भी उठाया और कहा कि संघर्ष को फैलने से रोकना महत्वपूर्ण है। वांग ने कहा कि गाजा में संकट के किसी भी समाधान के लिए द्वि-राष्ट्र व्यवस्था की आवश्यकता है जो फलस्तीनी लोगों की इच्छा को प्रतिबिंबित करती हो।

Previous Post Next Post