UP News: सामूहिक धर्मांतरण कराने वाले ईसाई मिशनरी से जुड़े 9 लोग गिरफ्तार, आदिवासियों को दे रहे थे लालाच


Sonbhadra : उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के चोपन में पुलिस ने धर्म परिवर्तन कराने के प्रयास के आरोप में नौ लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें से मुख्य आरोपियों मे एक चेन्नई निवासी तो दूसरा मुख्य आरोपी आंध्र प्रदेश का निवासी है. इन पर आरोप है कि यह लोग गिरोह बना कर आदिवासियों को ईसाई धर्म अपनाने का लालच दे रहे थे. बजरंग दल से जुड़े एक व्यक्ति की शिकायत पर पुलिस ने धर्म परिवर्तन के गिरोह के 9 लोगों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है.

चोपन थाना क्षेत्र के एक गांव में चंगाई सभा आयोजित की गई थी, जहां आस-पास के गांव के भोले-भाले लोगों को गुमराह कर धन, सामग्री और उनकी बीमारी को ठीक करने व प्रलोभन देकर जबरन धर्म परिवर्तन कराया जा रहा था. चंगाई सभा की आड़ में सामूहिक धर्मांतरण का मामला सामने आया है. बजरंग दल के एक व्यक्ति की सूचना पर जब पुलिस ने चंगाई सभा में छापा मारा तो सामूहिक धर्मांतरण का खुलासा हुआ. 

इसके बाद पुलिस ने मौके से 9 लोगों को गिरफ्तार किया है, गिरफ्तार लोगों के पास से 250 से अधिक धर्म परिवर्तन व देश विरोधी पुस्तकें भी बरामद हुई हैं. आरोप है कि ईसाई मिशनरी से जुड़े लोग आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को पहले रुपयों का लालच देकर और चमत्कार दिखाने के नाम पर चंगाई सभा में बुलाते हैं. जहां उनका ब्रेनवॉश करने के बाद जबरन धर्मांतरण करा देते हैं और पुलिस ने इस मामले में विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम के तहत केस दर्ज कर 9 लोगों को जेल भेज दिया है.

बजरंग दल के प्रदेश संयोजक ने पुलिस अधीक्षक को धर्म परिवर्तन रोकने के लिए प्रार्थना पत्र दिया था और साथ में धर्म परिवर्तन कराने वाले गिरोह के 42 लोगों की सूची भी सौंपा था. अपर पुलिस अधीक्षक का कहना है की धर्म परिवर्तन कराने वाले लोगों की शिकायत नरसिंह त्रिपाठी द्वारा की गई थी. कार्रवाई करते हुए 9 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. यह सभी लोग भोले-भाले ग्रामीण आदिवासियों को भूत प्रेत और बीमारियां दूर करने का प्रलोभन के साथ धन का प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन कराते थे. इस मामले में अग्रिम विधिक कार्रवाई की जा रही है.

Previous Post Next Post