राष्ट्रीय प्रतियोगिता के वेन्‍यू पर उठे सवालों के बीच केंद्र का बड़ा फैसला, कुश्ती संघ को किया निलंबित - National Competition


नई दिल्‍ली :
पहलवान साक्षी मलिक (Sakshee Malikkh) के आगामी जूनियर राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं ( Junior National Competitions) के बारे में चिंता जताने के एक दिन बाद, सरकार ने नवनिर्वाचित भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) पैनल को निलंबित कर दिया है. खेल मंत्रालय के बयान में यह भी कहा गया है कि नवनिर्वाचित निकाय "खेल संहिता की पूरी तरह से उपेक्षा करते हुए पूर्व पदाधिकारियों के नियंत्रण प्रतीत होता है."

खेल मंत्रालय ने कहा, "डब्ल्यूएफआई का कामकाज पूर्व पदाधिकारियों द्वारा नियंत्रित परिसर से चलाया जा रहा है. यह कथित परिसर वही है, जिसमें खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया है और मामले की सुनवाई अदालत में चल रही है."

बृजभूषण पर महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप

खेल मंत्रालय की कड़ी फटकार डब्ल्यूएफआई के पूर्व प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह के सहयोगी संजय सिंह द्वारा देश की शीर्ष कुश्ती संस्था के चुनावों में उनकी जगह लेने के कुछ दिनों बाद आई है. छह बार के भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह को उस समय पद से हटना पड़ा था, जब साक्षी मलिक सहित देश के शीर्ष पहलवानों ने उन पर महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था.

संजय सिंह ने कहा था- मैं बृजभूषण का करीबी...

चुनाव नतीजों पर निराशा व्यक्त करते हुए साक्षी मलिक ने घोषणा की थी कि वह कुश्‍ती से संन्‍यास ले रही हैं. मीडिया से बातचीत के दौरान, 2016 ओलंपिक कांस्य पदक विजेता ने अपने जूते मेज पर रख दिए और कहा कि वह चाहती थीं कि कुश्ती संस्था को एक महिला प्रमुख मिले. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. हम लड़े, लेकिन अगर नए अध्यक्ष बृजभूषण के सहयोगी, उनके बिजनेस पार्टनर हैं तो मैंने कुश्ती छोड़ दी."

मीडिया से बातचीत के दौरान उनके रोने के दृश्य से आक्रोश फैल गया, विपक्षी नेताओं ने सरकार पर सत्ताधारी पार्टी के सांसद को उनके खिलाफ गंभीर आरोपों के बावजूद बचाने का आरोप लगाया.

उधर, नए अध्यक्ष संजय सिंह ने अपनी जीत के बाद कहा था कि वह बृजभूषण शरण सिंह के करीबी हैं और अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज कर दिया.

राष्ट्रीय प्रतियोगिता के वेन्‍यू साक्षी मलिक ने कहा था...?

साक्षी मलिक ने कहा कि उन्हें जूनियर नेशनल के आयोजन स्थल पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा था कि कई जूनियर पहलवानों के फोन उनके पास आ रहे हैं. उन्‍होंने 'एक्‍स' पर कहा, "मैंने कुश्ती से संन्‍यास लेने का निर्णय ले लिया है, लेकिन मैं कल रात से चिंतित हूं. मुझे उन जूनियर महिला पहलवानों के बारे में क्या करना चाहिए, जो मुझे फोन कर रही हैं... मुझे बता रही हैं कि जूनियर नेशनल 28 तारीख से होने जा रहे हैं और नए कुश्ती महासंघ ने इसे आयोजित करने का फैसला नंदनी नगर गोंडा में किया है." साक्षी मलिक ने आगे कहा, "गोंडा बृजभूषण का क्षेत्र है. अब कल्पना कीजिए कि जूनियर महिला पहलवान वहां खेलने करने कैसे जाएंगी? क्या इस देश में नंदनी नगर के अलावा कहीं और नेशनल आयोजित करने की जगह नहीं है?"

Previous Post Next Post