Mahua Moitra: टीएमसी नेता महुआ मोइत्रा को बड़ा झटका, कैश फॉर क्वेरी मामले में गई लोकसभा की सदस्यता


 नई दिल्ली। टीएमसी नेता महुआ मोइत्रा को बड़ा झटका लगा है। महुआ मोइत्रा की सांसदी चली गई है। कैश फॉर क्वेरी मामले में टीएमसी नेता के खिलाफ कार्रवाई हुई है। बता दें कि महुआ मोइत्रा लोकसभा की सदस्य थीं।

महुआ मोइत्रा की सदस्यता रद्द होने के बाद विपक्षी सांसदों ने सदन से वॉकआउट किया। वहीं, लोकसभा को कार्यवाही को 11 दिसंबर सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।


महुआ का सांसद बने रहना उचित नहीं: लोकसभा स्पीकर

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने महुआ मोइत्रा के लोकसभा से निष्कासन की घोषणा की। इस दौरान स्पीकर ने कहा, 'यह सदन समिति के निष्कर्ष को स्वीकार करता है कि महुआ मोइत्रा का आचरण एक सांसद के रूप में अनैतिक और अशोभनीय था। इसलिए, उनका सांसद बने रहना उचित नहीं है।' 

निष्कासन के बाद क्या बोली महुआ मोइत्रा?

संसद से अपने निष्कासन को लेकर महुआ मोइत्रा नाराजगी जाहिर की है। महुआ ने कहा कि एथिक्स कमेटी के पास निष्कासित करने का कोई अधिकार नहीं है। यह आपके (बीजेपी) के अंत की शुरुआत है।


लोकतंत्र के लिए दुर्भाग्यपूर्ण घटना: ममता बनर्जी

टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधा है।

Previous Post Next Post