कोरोना के नए सब वैरिएंट JN.1 ने डराया, पूरे देश में 21 मामलों की पुष्टि, बीते दो हफ्ते में 16 लोगों की मौत

 


देश में कोरोना के नए मामलों ने एक बार फिर चिंता की लकीरें खींच दी हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक कोरोना के नए सब वैरिएंट JN.1 के 21 मामलों की पुष्टि हुई है. न्यूज एजेंसी पीटीआई ने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया कि जेएन.1 के नए मामलों में से 19 मामले गोवा में दर्ज किए गए हैं जबकि केरल और महाराष्ट्र में एक-एक मामला सामने आया है. 

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल ने कहा कि मंगलवार (19 दिसंबर) को कोरोना के 500 मामले आए. बीते दो हफ्ते में कोविड से 16 लोगों की मौत हुई है. इन लोगों को पहले से कई गंभीर बीमारी थी.

उन्होंने आगे कहा, ''देश में अभी कोरोना के 2300 एक्टिव मामले में से सब वेरिएंट JN.1 के 21 मामले हैं. सब वेरिएंट JN.1 का पहला केस अगस्च के महीने में लक्जमबर्ग में आया. धीरे-धीरे ये 36 से 40 देश में फैल गया. घबराने की जरूरत नहीं है और हमें सिर्फ सावधानी बरतनी है.'' 

कहां कितने मामले आए हैं?

कोरोना के मामले पिछले 24 घंटों में केरल में 292, तामिलनाडु में 13, महाराष्ट्र में 11, कर्नाटक में 9, तेलंगाना और पुडुचेरी में 4 मामले आए हैं. दिल्ली और गुजरात  में 3 और पंजाब और गोवा में 1 मामला है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने की बैठक 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने बुधवार  (20 दिसंबर) को देश भर में स्वास्थ्य सुविधाओं की तैयारियों की समीक्षा की और कोरोना वायरस के उभरते स्वरूपों के प्रति सतर्क रहने पर जोर दिया. मांडविया ने बताया कि इसको लेकर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की. 

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने क्या कहा?

बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंगलवार (19 दिसंबर) को ही कोरोना वायरस के ‘जेएन.1’ सब वैरिएंट को ‘वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’ करार दिया था. साथ ही कहा था कि इससे वैश्विक जनस्वास्थ्य के लिए ज्यादा खतरा नहीं है.

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, यह अब ‘ग्लोबल इनिशिएटिव ऑन शेयरिंग ऑल इन्फ्लुएंजा डेटा’ (जीआईएसएआईडी) से जुड़े बीए.2.86 वंशानुक्रम (लीनिएज) से संबंधित है.

Previous Post Next Post