Election Result: राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश.... बीजेपी की जीत के ये हैं असली हीरो

 


भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने चार राज्यों के विधानसभा चुनावों में बंपर जीत हासिल की है। इस जीत ने भगवा दल को कर्नाटक की हार के झटके से उबारते हुए मिशन 2024 के लिए नई ऊर्जा दे दी है। बीजेपी ने कांग्रेस को उत्तर के तीन राज्यों में जबरदस्त धूल चटाई है। अब जब पार्टी एक बड़ी जीत दर्ज कर चुकी है तो इसके हीरो की भी तलाश होगी। इन चुनावों में बीजेपी की जीत के असली हीरो तो पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ही हैं। पीएम मोदी के नेतृत्व ने राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में जमकर प्रचार किया था। एमपी में सत्ता वापसी का श्रेय तो वहां के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी उन्हीं को दिया है। तीनों राज्यों में पार्टी ने सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ा था लेकिन सभी जगह पीएम मोदी ही चेहरा थे।मोदी का चेहरा जीत की गारंटी

पूरे विधानसभा चुनाव के दौरान पीएम मोदी ने जमकर पार्टी के लिए प्रचार किया। उन्होंने राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जमकर रैलियां कीं। वो बीजेपी के जीत के असली हीरो साबित हुए। पार्टी के सभी नेता इस जीत का श्रेय पीएम मोदी को ही दे रहे हैं। पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश में 15 चुनावी सभाएं की। उन्होंने 4 नवंबर को रतलाम से बीजेपी के प्रचार की शुरुआत की थी और 14 नवंबर को इंदौर में रोड शो के साथ इसे समाप्त किया था। इस दौरान उन्होंने कुल 71 विधानसभा सीटों को कवर किया। इसी तरह राजस्थान में पीएम मोदी ने कई सभाएं की थी। इस दौरान उन्होंने 15 जिलों की विधानसभा सीटों को अपने निशाने पर लिया। यही कारण है कि पार्टी राजस्थान में वापसी कर रही है। पार्टी की नेता वसुंधरा राजे ने भी इस जीत का श्रेय पीएम मोदी को दिया है। पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ में पार्टी के चुनाव प्रचार की कमान थामते हुए जमकर रैलियां की थीं। इस उन्होंने यहां के 5 जिलों को कवर किया। पीएम मोदी के जोरदार प्रचार अभियान का फायदा बीजेपी को चुनावी जीत से मिला। इसमें कोई शक नहीं कि पीएम मोदी का चेहरा बीजेपी की गारंटी बन चुकी है।

पर्दे के पीछे बीजेपी के कई रणनीतिकार

पीएम मोदी जहां पार्टी के लिए मैदान में दिखने वाले चेहरे थे वहीं, पार्टी के कई रणनीतिकारों ने पर्दे के पीछे भगवा दल को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। इमसें एमपी में पार्टी के प्रभारी भूपेंद्र यादव, सह प्रभारी अश्विनी वैष्णव और राज्य के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा भी थे। भूपेंद्र ने अपने अनुभव को झोंकते हुए राज्य में पार्टी के सत्ता विरोधी लहर से दूर ले गए और यहां पार्टी की जीत में अहम भूमिका निभाई। इसके अलावा पीएम मोदी के विश्वस्त केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और शर्मा की तिकड़ी ने कांग्रेस की रणनीति को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया। इन नेताओं ने बूथ मैनेजमेंट से लेकर माइक्रो मैनेजमेंट को संभाला और जमीन पर उसे लागू कर कांग्रेस धूल चटा दी।

प्रह्लाद जोशी ने राजस्थान में लगाया जीत का तड़का

राजस्थान में भी पीएम मोदी ने धुआंधार प्रचार किया। लेकिन पर्दे के पीछे केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी, हरियाणा के दिग्गज नेता कुलदीप बिश्नोई और नितिन पटेल ने यहां पार्टी की जीत में अहम भूमिका निभाई है। इन नेताओं ने मुश्किल माने जाने वाली सीटों के लिए अहम रणनीति बनाई। यही नहीं सीएम अशोक गहलोत की योजनाओं की काट के लिए बीजेपी के इन नेताओं ने कई अहम योजनाओं को पार्टी के घोषणापत्र में शामिल करवाया। नतीजा सामने है। पार्टी ने गहलोत के जादू के तोड़कर राजस्थान में भगवा परचम लहरा दिया है।

Previous Post Next Post