Ultra Luxury Homes: 100-100 करोड़ के घर खरीद रहे रईस, इस साल 250 पर्सेंट बढ़ी अल्ट्रा-लग्जरी घरों की बिक्री

 


हाल में ही दिल्ली से सटे गुरुग्राम में 100 करोड़ रुपये का फ्लैट बिकने की खबर ने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर खींचा. हर आदमी के मन में सवाल आया कि इतना महंगा फ्लैट कौन खरीदता है? ये अकेला मामला नहीं है जब करोड़ों रुपये की कीमत के घर खरीदे गए हैं. साल 2023 में देश के सात बड़े शहरों में 58 अल्ट्रा-लग्जरी यानी आलीशान घरों की बिक्री हुई. इनमें 53 अपार्टमेंट, जबकि 5 बंगले शामिल हैं. डेवलपरों को उनकी बिक्री से 4,063 करोड़ रुपये की कमाई हुई. एक हालिया रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है.

पिछले साल अल्ट्रा-लग्जरी घरों की बिक्री

अल्ट्रा-लग्जरी कैटेगरी में उन मकानों को रखा गया है, जिनकी कीमत 40 करोड़ रुपये से ज्यादा है. रिपोर्ट के अनुसार, साल 2022 में करीब 1,170 करोड़ रुपये के 13 अल्ट्रा-लग्जरी घर बेचे गए थे. इस दौरान, 10 अपार्टमेंट और 3 बंगलों की बिक्री हुई थी. पिछले एक साल में ऐसे घरों की बिक्री में कीमत के लिहाज से 247 फीसदी का उछाल आया है. कोविड के बाद प्रॉपर्टी की डिमांड में तेजी और शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव इसकी मुख्य वजह है.

महंगे घरों के मामले में सबसे आगे मुंबई

प्रॉपर्टी कंसल्टेंट एनारॉक की रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई में इस साल सबसे ज्यादा 53 अल्ट्रा-लग्जरी घरों की बिक्री हुई है. घरों की कुल बिक्री में अकेले मुंबई का 91 पर्सेंट हिस्सा है. दिल्ली-NCR में इस तरह की टोटल 4 डील्स की गई हैं. इसमें 2 अल्ट्रा-लग्जरी घरों की बिक्री गुड़गांव और दो बंगलों की बिक्री दिल्ली में हुई. वहीं, हैदराबाद में 40 करोड़ रुपये से ऊपर का एक घर बेचा गया है.

100 करोड़ से भी ज्यादा के इतने घर

साल 2023 में बिके 58 आलीशान घरों में कम से कम 12 ऐसे हैं, जिनकी कीमत 100 करोड़ रुपये से ज्यादा है. मुंबई में 100 करोड़ से ज्यादा के 10, जबकि दिल्ली-NCR में 2 घर बिके हैं. महंगे और आलीशन घर खरीदने वालों में ज्यादातर बिजनेसमैन यानी कारोबारी हैं. टोटल डील्स में से 79 फीसदी डील्स बिजनेसमैन, 16 फीसदी सौदे अलग-अलग सेक्टर्स के सीनियर प्रोफेशनल्स ने की. नेताओं और बॉलीवुड हस्तियों का हिस्सा 5 फीसदी रहा.

महंगे घरों की डिमांड बढ़ने के कारण

एनारॉक ग्रुप के चेयरमैन अनुज पुरी का इस बारे में कहना है कि कोविड महामारी के बाद लग्जरी और अल्ट्रा-लग्जरी प्रॉपर्टी की डिमांड बढ़ी है. अमीर लोग निवेश और निजी इस्तेमाल दोनों लिहाज से आलीशान घर खरीद रहे हैं. भू-राजनीतिक तनाव के चलते शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव का जो माहौल है, उसे देखते हुए अमीरों ने अपने इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो में बदलाव किया है. इस वजह से भी महंगे घरों की डिमांड में तेजी देखी जा सकती है.

Previous Post Next Post