सर्दियों में गठिया के दर्द और सूजन को कंट्रोल करने के लिए आपको कुछ ऐसा रखना होगा लाइफस्टाइल


 सर्दियों में रुमेटीइड गठिया (आरए) के मरीजों को दर्द और जकड़न महसूस हो सकती है. आरए के कारण होने वाली असुविधा और सूजन आपके शरीर की एनर्जी को कम कर सकती है. जिसकी वजह से आपको बहुत ज्यादा दर्द से जूझना पड़ सकता है. सर्दियों में दर्द, सूजन, कठोरता और थकान जैसे लक्षण आपकी हालत को बदतर कर सकते हैं. सर्दियों में जैसे-जैसे तापमान गिरता है हवा के दबाव में भी गिरावट आती है. यह कम दबाव आपकी इम्युनिटी को कमजोर भी कर सकता है. जिससे टिश्यूज में दिक्कत पैदा हो सकती है.  बैरोमीटर के दबाव के कारण हाथ-पैर के जोड़ों में टेंडन, मांसपेशियों और आस-पास के टिश्यूज में दिक्कत पैदा हो सकती है जिसके कारण जोड़ो में दर्द हो सकती है. सर्दी बढ़ने पर गठिया के मरीज ऊनी कपड़े पहनें. इससे शरीर में गर्मी रहेगी. 

सर्दी में ज्यादा एक्टिव रहें गठिया के मरीज

 गठिया के मरीज सर्दियों में एक्टिव रहें रहें क्योंकि रोजाना एक्सरसाइज करने से मांसपेशियों और हड्डियों की मजबूती के लिए महत्वपूर्ण है और कठोरता और थकान को कम कर सकता है. प्रतिदिन कम से कम 45 मिनट एक्सरसाइज करें और आप निश्चित रूप से जोड़ों के स्वास्थ्य में सुधार करने में सक्षम होंगे.

जोड़ों को ढीला करने और दर्द से बचने के लिए एक्टिव रहने के साथ-साथ स्ट्रेचिंग करें. याद रखें, व्यायाम करते समय ज्यादा न करें. सूजन को कम करने के लिए व्यायाम और सही डाइट के जरिए स्वस्थ वजन बनाए रखें. आप अपने शरीर में जो कुछ भी डालते हैं वह सर्दियों के महीनों के दौरान गठिया के लक्षणों पर काफी प्रभाव डाल सकता है.

गठिया के मरीज इस तरह की डाइट करें फॉलो

अपने डाइट में नैचुरल फूड आइटम ऐसे खाएं जिससे शरीर के सूजन को कम करने में मदद मिलेगी.  जोड़ों के दर्द और सूजन से राहत मिल सकती है. मछली, जामुन, नट्स और पत्तेदार साग जैसे खाद्य पदार्थ शरीर में सूजन को कम करने की क्षमता के लिए जाने जाते हैं.

जंक और रिफाइंड फूड आइटम के साथ-साथ चीनी, ज्यादा कैफीन और शराब से परहेज करें इससे आपका सूजन कम होने के बजाय ट्रिगर हो सकता है. अच्छी नींद लें, क्योंकि आराम की कमी से सूजन बढ़ सकती है. बिना चूके कम से कम 8 घंटे की नींद लेने की कोशिश करें. सतर्क रहें और आवश्यकता पड़ने पर विशेषज्ञ से परामर्श लें.

Previous Post Next Post