GPay और Paytm से मोबाइल रिचार्ज कराना अब फ्री नहीं, देना होगा इतना प्लेटफार्म चार्ज


 भारत में पेटीएम, गूगल पे, फोनपे ऐप खूब इस्तेमाल किया जाता है. ये देश के प्रमुख यूपीआई ऐप्स हैं. इन ऐप के जरिए लोग रेंट, बिल पेमेंट, गैस, फ्लाइट, इंश्योरेंस, मोबाइल रिचार्ज आदि तमाम तरह की पेमेंट करते हैं. इस बीच यूपीआई ऐप पेटीएम और गूगल पे से जुड़ा एक अपडेट सामने आ रहा है. अगर आप इन ऐप से मोबाइल रिचार्ज करवाते हैं तो आपको अब प्लेटफार्म फीस देनी होगी. यानी मोबाइल रिचार्ज अमाउंट के अलावा आपको कुछ और रुपए पे करने होंगे. 

लगेगा इतना चार्ज

सोशल मीडिया पर कई यूजर्स ने पेटीएम से रिचार्ज करते वक्त ली जा रही प्लेटफार्म फीस का स्क्रीनशॉट शेयर किया है. हमने जब व्यक्तिगत तौर पर चेक किया तो कंपनी रिचार्ज पैक के हिसाब से अलग-अलग प्लेटफार्म चार्ज ले रही है. यह चार्ज 1 रुपये से लेकर पेमेंट के हिसाब से 5 और 6 रुपए तक जाता है. अगर आप एयरटेल पर 2,999 रुपये का रिचार्ज साल भर का करवाते हैं तो कंपनी आपसे 5 रुपये प्लेटफार्म फीस चार्ज करेगी. 

गैजेट्स 360 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, गूगल पे ने भी कन्वीनियंस फीस लेना शुरू कर दिया है. कंपनी 749 रुपये के प्लान पर 3 रुपये प्लेटफॉर्म फीस चार्ज कर रही है. अगर आप सोच रहे हैं कि ये चार्ज क्यों कंपनियां ले रही हैं तो दरअसल, यूपीआई ऐप की सर्विस के बदले कंपनियां आपसे फीस ले रही हैं.

Phonepe पहले से लेता है मोबाइल रिचार्ज पर फीस

गूगल पे और पेटीएम ने भी फोन-पे की राह पर चलना शुरू कर दिया है और अब ये दो कंपनियां भी प्लेटफार्म फीस ले रही हैं. दरअसल, फोन-पे लंबे समय से मोबाइल रिचार्ज पर प्लेटफॉर्म फीस चार्ज कर रहा है. अभी तक यूजर्स फोन-पे के बजाय गूगल-पे और पेटीएम से रिचार्ज करना पसंद करते थे लेकिन अब इन ऐप्स ने भी प्लेटफॉर्म फी चार्ज करना शुरू कर दिया है.

ध्यान दें, फिलहाल गूगल पे और पेटीएम केवल मोबाइल रिचार्ज पर प्लेटफॉर्म फी चार्ज कर रहे हैं. दूसरी तरह के बिल पेमेंट फिलहाल फ्री रहेंगे. हो सकता है  कंपनी आने वाले समय में इनके लिए भी कुछ एडिशनल चार्ज ले. 

Previous Post Next Post