"मुस्लिम भाइयों को गुमराह किया जा रहा": केंद्र ने नागरिकता कानून का उद्देश्य स्पष्ट कियाCAA

 


गृह मंत्री अमित शाह ने आज कहा कि दिसंबर 2019 में संसद में मंजूर किया गया नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) दो महीने में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले लागू किया जाएगा. उन्होंने ईटी नाउ-ग्लोबल बिजनेस शिखर सम्मेलन में यह टिप्पणी की.


सीएए के बारे में अमित शाह ने कही यह 5 बातें:

  1. सीएए देश का एक्ट है, इसे नोटिफाई जरूर किया जाएगा. चुनाव से पहले सीएए लागू हो जाएगा. इसे लेकर किसी को भ्रम नहीं होना चाहिए.
  2. शाह ने कहा- जब कांग्रेस नेताओं ने देश का विभाजन किया तब हमारे कुछ पड़ोसी देशों में ईसाई अल्पसंख्यक थे. जब वे अत्याचार झेल रहे थे तो कांग्रेस नेताओं ने उनसे कहा कि भारत में आपका स्वागत है और आपको नागरिकता दी जाएगी. कांग्रेस ने शरणार्थियों को आश्वासन दिया था कि भारत में उनका स्वागत है, अब वे पीछे हट रहे हैं.
  3. गृह मंत्री ने कहा कि, मैं स्पष्ट करना चाहता हूं, सीएए किसी व्यक्ति की नागरिकता छीनने वाला कानून नहीं है. किसी भी भारतीय की नागरिकता नहीं छीनी जा सकती क्योंकि कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है.
  4. सीएए बांग्लादेश और पाकिस्तान में प्रताड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देने का कानून है.
  5. हमारे मुस्लिम भाइयों को  (सीएए के खिलाफ) गुमराह किया जा रहा है और भड़काया जा रहा है. सीएए केवल उन लोगों को नागरिकता देने के लिए है जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में उत्पीड़न का सामना करने के बाद भारत आए थे. यह किसी की भारतीय नागरिकता छीनने के लिए नहीं है.

Previous Post Next Post