रेल टिकट कंफर्म होने पर ही अकाउंट से कटेगा पैसा, कैंसल करने पर मिलेगा तुरंत रिफंड, यहां जानिए कैसे

 


देशभर में रोजाना हजारों ट्रेन चलती हैं और करोड़ों लोग सफर करते हैं। यही वजह है कि रेलवे को देश की लाइफलाइन कहा जाता है। क्या आप जानते हैं कि तत्काल पेमेंट किए बिना भी आप रेलवे टिकट बुक कर सकते हैं? यह विकल्प आईआरसीटीसी के आई-पे पेमेंट गेटवे पर ही उपलब्ध है और इसे ऑटोपे कहा जाता है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म का आईपे पेमेंट गेटवे ऑटोपे फीचर यूपीआई, क्रेडिट कार्ड्स और डेबिट कार्ड के साथ काम करता है। इसमें रेलवे टिकट के लिए पीएनआर जेनरेट होने के बाद ही यूजर के बैंक अकाउंट से पैसा कटता है। यह उन लोगों के लिए लाभदायक है जो हाई-वैल्यू रेलवे ई-टिकट बुक कर रहे हैं या वेटलिस्ट या तत्काल टिकट बुक करने की कोशिश कर रहे हैं।

आईआरसीटीसी ने 2021 की शुरुआत में यह सुविधा लॉन्च की थी। IRCTC-iPay के जरिए पेमेंट करने के लिए यूजर्स को अपने UPI बैंक अकाउंट के डेबिट कार्ड या फिर किसी और पेमेंट फॉर्म के इस्तेमाल के लिए परमिशन और डीटेल देनी होगी। यूजर्स IRCTC पर भविष्य में किए जाने वाले ट्रांजैक्शन के लिए भी इन डीटेल्स का इस्तेमाल कर पाएंगे। IRCTC वेबसाइट या मोबाइल ऐप से टिकट बुक करने पर IRCTC iPay के जरिए इंस्टेंट रिफंड भी मिलेगा। IRCTC के मुताबिक, ऑटोपे ऐप फैसिलिटी के लिए यूजर्स को टिकट बुक करने में सुविधा होती और टिकट कैंसल करने की स्थिति में रिफंड प्रक्रिया भी आसान है। इससे यूजर्स का टाइम भी बचता है।


किसे मिलेगा फायदा

ऑटोपे उन मामलों में ज्यादा फायदेमंद है जहां यूजर्स के अकाउंट से पैसा कटने के बावजूद ई-टिकट बुक नहीं होता है। कई बार तत्काल वेटलिस्ट वाला ई-टिकट चार्ट बनने के बाद भी कंफर्म नहीं हो पाता है। ऐसे मामलों में केवल कैंसिलेशन चार्ज, कनवीनिएंस फीस और मेंडेट चार्जेज ही कटेंगे और बाकी राशि तुरंत यूजर के बैंक अकाउंट में डाल दी जाएगी। अगर कोई यूजर वेटलिस्टेड टिकट बुकिंग कर रहा है तो टिकट कंफर्म नहीं होने पर तीन से चार दिन में रिफंड मिल जाएगा। अगर कोई यूजर इसके लिए आईपे के ऑटोपे फीचर का यूज करता है और उसकी टिकट कंफर्म नहीं हो पाती है तो उसका रिफंड तुरंत मिल जाएगा।

Previous Post Next Post