ईरान ने पाकिस्तान पर दागी मिसाइलें, बलूची आतंकी समूहों को बनाया निशाना, बौखलाए PAK ने दी चेतावनी


Foreign Desk, New Delhi:
पाकिस्तान पर एक और सर्जिकल स्ट्राइक (Air Strike on Pakistan) हो गया है. इस बार ये हमला ईरान ने किया है. ईरान ने पाकिस्तान के अंदर आतंकवादी समूह जैश-ए-अदल के ठिकानों को निशाना बनाया. जैश-ए-अदल (Balochi militant group Jaish al Adl) एक सुन्नी आतंकी गुट है. .हमले के लिए ईरान ने ड्रोन और मिसाइल का इस्तेमाल किया था. ईरान का दावा है कि इस हमले में कई आतंकी मारे गए हैं. जबकि पाकिस्तान ने इन हमलों की निंदा करते हुए कहा कि इस हमले में दो बच्चों की मौत हुई है साथ ही साथ तीन बच्चियां घायल भी हुई हैं. हमले के बाद पाकिस्तान ने ईरान के मुख्य राजनयिक को तलब किया और हवाई क्षेत्र के उल्लंघन की निंदा की. पाक विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमारे हवाई क्षेत्र के उल्लंघन के गंभीर परिणाम हो सकते हैं.

ख़बर के मुताबिक, जैश-ए-अदल के आतंकियों ने ईरानी सेना पर सीमा के पास हमला किया था. जिसके जवाब में ईरान ने ये कार्रवाई की है. मंगलवार ईरानी मीडिया ने अपने रिपोर्ट में बताया कि ईरान की रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स ने जैश-ए-अदल के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक करने का दावा किया है.

इस आतंकी संगठन ने ईरान की सिक्योरिटी फोर्स पर हमला किया था. इन्होंने पाकिस्तान और ईरान की सीमा पर हमला किया था. ईरान ने इसी हमले का बदला लेते हुए आतंकी संगठनों पर निशाना बनाया है. ईरानी मीडिया का कहना है कि इन आतंकी ठिकानों पर ड्रोन और मिसाइल से हमले किए गए हैं.

जैश अल-अदल आतंकवादी समूह से जुड़े दो ठिकानों को निशाना बनाए जाने के ईरान के दावों के मद्देनजर पाकिस्तान ने पड़ोसी देश द्वारा उसके ‘‘हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किए जाने'' की बुधवार को कड़ी निंदा की और चेतावनी दी कि इस प्रकार के कदमों का ‘‘गंभीर परिणाम'' हो सकता है. देश के सरकारी मीडिया के अनुसार, ईरान ने मंगलवार को पाकिस्तान में ‘‘आतंकवादी समूह के ठिकानों को निशाना बनाते हुए'' हमले किए. पश्चिम एशिया में हमास और इजराइल के युद्ध के कारण में पहले से ही स्थिति तनावपूर्ण है, ऐसे में ईरान के इन हमलों ने चिंता और बढ़ा दी है.

पाकिस्तान में यह हमला ईरान द्वारा इराक और सीरिया में इसी तरह के हमले किए जाने के एक दिन बाद किया गया है. पाकिस्तान ने ‘‘अपनी संप्रभुता के इस उल्लंघन'' की कड़ी निंदा करने के लिए ईरान के प्रभारी राजदूत को विदेश मंत्रालय में तलब किया. पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने बयान जारी कर ईरान के इस कृत्य को उसके ‘‘हवाई क्षेत्र का अकारण उल्लंघन'' बताया है. रिपोर्ट के मुताबिक, ईरान ने आतंकी समूह के ठिकानों पर मिसाइलों और ड्रोन से हमला किया.

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने उस स्थान का उल्लेख नहीं किया जहां यह हमला हुआ लेकिन ऐसा संदेह है कि ये ठिकाने बलूचिस्तान में थे. पाकिस्तान के अनुसार, इस हमले में दो बच्चों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए.

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने कहा, ‘‘पाकिस्तान अपनी संप्रभुता के उल्लंघन का कड़ा विरोध करता है. यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है और इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं.''जैश अल-अदल सुन्नी आतंकवादी समूह है जो मुख्यत: पाकिस्तान से अपनी गतिविधियों को अंजाम देता है.

Previous Post Next Post