कर्नाटक में भगवा ध्वज और हरे झंडे पर बवाल, बीजेपी बोली- ये फ्लैग कोड के खिलाफ

 


हाल के सप्ताह ने मांड्या में हनुमान ध्वजा लहराया गया और उसके बाद प्रशासन ने इसे हटा दिया था. मामले को लेकर बीजेपी और जेडीएस ने राज्यभर में प्रदर्शन किया था. इस विवाद के बाद उत्तर कन्नड़ से एक और विवाद सामने आया, जब जिला प्रशासन ने एक सर्कल से वीर सावरकर की नेमप्लेट हटा दी. इसी बीच बेंगलुरु के शिवाजीनगर में लैंप पोस्ट पर हरा झंडा लगाने को लेकर बीजेपी ने सवाल उठाए.

मंगलवार को उत्तर कन्नड़ जिले के टेंगिनागुंडी ग्राम पंचायत में उस समय तनाव फैल गया जब ग्राम पंचायत अधिकारियों ने पुलिस के साथ मिलकर ध्वज स्तंभ का निर्माण रोक दिया और पद से वीर सावरकर की नेम प्लेट हटा दी. बीजेपी कार्यकर्ताओं और कुछ पंचायत सदस्यों ने विरोध प्रदर्शन किया और दावा किया कि प्रशासन ने इस ध्वज स्तंभ के लिए 2022 में अनुमति दी और सर्कल का नाम वीर सावरकर सर्कल रखा जाएगा.

क्या कहना है जिला प्रशासन का?

हल्की जिला प्रशासन के अनुसार, पंचायत सदस्यों ने इस ध्वज स्तंभ के निर्माण और इस सर्कल का नाम वीर सावरकर सर्कल रखने के लिए कोई अनुमति नहीं ली थी. पिछले सप्ताह कुछ स्थानीय ग्रामीणों ने ध्वज स्तंभ का निर्माण किया था और उस पर भगवा झंडे और वीर सावरकर की नेम प्लेट लगा दी थी. ध्वज स्तंभ के निर्माण के तुरंत बाद, जिला अधिकारी आए और संरचना को हटा दिया. आज फिर से ध्वजस्तंभ का निर्माण शुरू हुआ, इसके बाद जिला अधिकारी मौके पर पहुंचे और उन्हें रोका, लेकिन तब तक उन्होंने ध्वजस्तंभ खड़ा कर दिया था.

बढ़ते विवाद को लेकर जिला प्रशासन ने उठाया ये कदम

बढ़ते विवाद के बीच जिला प्रशासन ने तेंगिनागुड़ी ग्राम पंचायत में ऐसी सभी संरचनाओं को 15 दिनों के भीतर अनुमति दस्तावेज पेश करने के लिए नोटिस जारी करने का निर्णय लिया है और काग़ज़ातों की अनुपस्थिति में अनधिकृत संरचनाओं और नेमबोर्ड को हटाने का फ़ैसला लिया.

बीजेपी ने उठाए सवाल

इसी बीच एक और विवाद में बेंगलुरु के शिवाजीनगर में लैंप पोस्ट पर हरा झंडा लगाने को लेकर बीजेपी ने सवाल उठाए. बीजेपी नेता बसवंगोड पाटिल यातनला ने सोशल मीडिया पर एक फोटो पोस्ट कर के पुलिस से सवाल पूछा कि क्या इस ऊंचे लाइट पोस्ट पर हरा झंडा जो दुश्मन देश का रंग है फ्लैग कोड के खिलाफ नहीं है.

उन्होंने इस हरे झंडे को तुरंत हटाने की मांग भी की. इसे पहले की मामला तूल पकड़ लेता पुलिस ने शिवाजी नगर के चांदनी चौक स्थित दरगाह एसोसिएशन के सदस्यों से बात की. जिसके बाद स्थानीय लोगों ने तुरंत हरा झंडा हटाया और इस लैंप पोस्ट पर तिरंगा लगाया गया.



Previous Post Next Post