रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले मुसलमानों को बदरुद्दीन अजमल ने दी नसीहत, बोले- '20 से 26 जनवरी तक घर में ही रहें'


 ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के अध्यक्ष बदरुद्दीन अजमल ने मुसलमानों से कहा है कि वे 20 से 26 जनवरी के बीच घर पर ही रहें. इतना ही नहीं उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (BJP) को मुस्लिम विरोधी बताया. AIUDF प्रमुख ने कहा कि बीजेपी हमारे धर्म की दुश्मन है.

एक रैली को संबोधित करते हुए अजमल ने कहा, "मुसलमान 20 से 26 जनवरी के बीच घर पर ही रहें और रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के दौरान ट्रेन से यात्रा करने से बचें." अजमल के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पलटवार किया है.

'बीजेपी मुसलमानों से नफरत नहीं करती'

गिरिराज सिंह ने कहा, ''बीजेपी मुसलमानों से नफरत नहीं करती. हम 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' के मंत्र के साथ काम करते हैं." सिंह ने कहा कि अयोध्या भूमि विवाद मामले में पूर्व वादी इकबाल अंसारी को राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आमंत्रित किया गया है और वह प्रार्थना में भी भाग लेंगे.

सिंह आरोप लगाया कि बदरुद्दीन अजमल और असदुद्दीन ओवैसी जैसे लोग समाज में नफरत फैलाते हैं और बीजेपी सभी धर्मों का सम्मान करती है.

22 जनवरी को होगा प्राण प्रतिष्ठा समारोह

गौरतलब है कि राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह 22 जनवरी को आयोजित किया जाएगा. इसको लेकर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में जोरों-शोरों से तैयारियां चल रही है. कार्यक्रम के लिए निमंत्रण भी भेजे जा रहे हैं.  बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी को भी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण पत्र दिया गया है. उन्हें श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की ओर से आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने निमंत्रण दिया.

इसकी जानकारी अंसारी की बेटी शमा परवीन ने दी. शमा ने बताया कि उन्हें आमंत्रण पत्र रामपथ  स्थित अपने आवास पर प्राप्त हुआ. गौरतलब है कि कार्यक्रम में लगभग 8000 मेहमान शामिल होंगे. इनमें प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, बॉलीवुड स्टार और साधू संत शामिल हैं.

Previous Post Next Post