SIM लेकर जा रहे व्यक्ति को पुलिस ने किया गिरफ्तार, नया नंबर लेने से पहले आप भी जानें ये नियम


 साइबर क्राइम से निपटने के लिए सरकार लगातार नए कदम उठा रही है। यही वजह है कि पुलिस भी हरकत में आ गई है। नए सिम कार्ड को लेकर भी भारत सरकार नए नियम लेकर आ रही है। हाल ही में लुधियाना से एक नया मामला सामने आया है। यहां पुलिस ने एक युवक को 198 सिम कार्ड के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान गुरदासपुर निवासी 30 वर्षीय अजय कुमार के रूप में हुई है। वह अपने कपड़ों में सिम कार्ड छिपाकर ले जा रहा था।

आरोपी इन सिम कार्ड को कंबोडिया भेजने वाला था। आरोपी ने सिम कार्ड को जीन्स की दो जोड़ी में पैक कर दिए थे। जांच के दौरान कोरियर कंपनी को सिम कार्ड के बारे में जानकारी मिल गई और उन्होंने पुलिस को इस बारे में बताया। इस बारे में पता चलते ही पुलिस भी तुरंत हरकत में आ गई। पूछताछ में पता चला कि इन सिम कार्ड को साइब फ्रॉड रैकेट को अंजाम देने के लिए लेकर जाया जा रहा था और ये सिम कार्ड भारत से बाहर जा रहे थे।

नए टेलीकॉम बिल के बाद सिम कार्ड के नियम-

अगर किसी व्यक्ति के पास एक ही आधार कार्ड से 9 सिम कार्ड से ज्यादा पाए जाते हैं तो उस पर 50 हजार रुपए से लेकर 2 लाख रुपए तक का जुर्माना लग सकता है। यानी ये कानूनन अपराध की श्रेणी में आएगा।

इसके अलावा कोई व्यक्ति सरकारी आईडी पर अन्य व्यक्ति के लिए सिम कार्ड खरीदता है तो भी ये अपराध माना जाएगा। ऐसा करने पर 3 साल तक जेल भी हो सकती है और अधिकतम 50 हजार रुपए का जुर्माना भी लग सकता है।

नया सिम कार्ड लेने के लिए आधार कार्ड की मदद से ई-वेरिफिकेशन करवानी होगी। अब ये सिर्फ बायोमेट्रिक आधारित ही होगी।

पुलिस ने की पूछताछ-

अजय कुमार ने पुलिस को बताया कि वह हॉन्ग कॉन्ग में वेटर की तरह काम करता था। यहां वह कुछ लोगों से मिला था जिन्होंने दावा किया था कि वह कॉल सेंटर में काम करते है। जब वह वापस आया तो उन्होंने संपर्क करके भारतीय सिम कार्ड कोरियर करने के लिए कहा। उन्होंने प्रत्येक सिम कार्ड पर 150 रुपए देने का वायदा किया था। साथ ही आरोपी ने कहा कि उसे इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

Previous Post Next Post