Lakhbir Singh Landa: कौन है मोस्ट वांटेड लखबीर सिंह लांडा, भारत सरकार ने UAPA के तहत घोषित किया आतंकी


नई दिल्ली:
कनाडाई गैंगस्टर लखबीर सिंह लांडा को भारत ने आतंकवादी घोषित कर दिया है। गृह मंत्रालय ने आतंकवाद विरोधी कानून यूएपीए (UAPA) कार्रवाई करते हुए 33 साल के गैंगस्टर लांडा को आतंकवादी के रूप में नामित कर दिया है। सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक, आतंकी लखबीर सिंह उर्फ लांडा सीमा पार से मोहाली में पंजाब स्टेट इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर की इमारत पर रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड के माध्यम से आतंकवादी हमले में शामिल था। इसके साथ ही लांडा पर आतंकी मॉड्यूल को खड़ा करने, जबरन वसूली, हत्याएं, आईईडी लगाने, हथियारों और नशीले पदार्थों की तस्करी और पंजाब और देश के अन्य हिस्सों में आतंकवादी गतिविधियों के लिए धन उपयोग करने के भी आरोप हैं।

क्या- क्या आरोप है लांडा पर

लखबीर सिंह लांडा का जन्म पंजाब के तरनतारन जिले में 1989 को हुआ था। बचपन से ही कई आपराधिक मामलों में शामिल होने के बाद 2017 में वो कनाडा भाग गया। खालिस्तानी आतंकी लखबीर सिंह लांडा पर आरोप है कि उसने पिछले साल 9 मई को मोहाली में पुलिस इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर रॉकेट की मदद से ग्रेनेड हमला करवाया था। जिसके बाद वो राष्ट्रीय जांच एजेंसी की तरफ से मोस्ट वांटेड था। बता दें कि लखबीर सिंह लांडा पर पाकिस्तान से हथियारों की तस्करी का भी आरोप लगा है।

इसके अलावा आतंकी लांडा भारत के विभिन्न हिस्सों में टारगेट किलिंग, जबरन वसूली और अन्य राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल रहा है।

NIA ने रखा 10 लाख का इनाम

कई आतंकी गतिविधियों में शामिल होने वाले लांडा पर इसी साल सितंबर महीने में एनआईए ने 10 लाख का इनाम घोषित कर दिया था। NIA का मानना है कि इस समय वह कनाडा में एडमोंटन, अल्बर्टा में रहता है। वह बब्बर खालसा के अलावा कई और भारत विरोधी संगठनों में शामिल है। इस साल अगस्त में एनआईए की विशेष अदालत ने तरनतारन जिले के किरियन गांव में फरार खालिस्तान समर्थक आतंकवादी की संपत्ति जब्त करने का आदेश दिया था। यूए (पी) अधिनियम, 1967 की धारा 33 (5) के तहत एनआईए अदालत के आदेश के अनुसार, लांडा की उसके पैतृक गांव में संपत्ति राज्य द्वारा जब्त कर ली गई थी।अधिकारियों के अनुसार, शुरुआत में आपराधिक और गैंगस्टर-संबंधित गतिविधियों में शामिल लांडा कनाडा से अपनी भारत विरोधी गतिविधियों को जारी रखे हुए है।

लांडा पर अब तक करीब 20 मामले दर्ज

लखबीर सिंह लांडा पर गंभीर मामलों में करीब 20 आपराधिक मुकदमें दर्ज हैं। इनमें हत्या, हत्या के प्रयास, उगाही के साथ-साथ नशीले पदार्थों और हथियारों की तस्करी के मामले शामिल हैं। हरिके थाने में बीते 2 सितंबर को पाकिस्तान से ड्रग्स और हथियारों की तस्करी के मामले में जो एफआईआर दर्ज की गई है, उसमें भी लांडा की थोड़ी कुंडली दी गई है। एफआईआर में कहा गया है कि लांडा ने कनाडा से ही गैंग चला रहा है जो पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए भारतीय सीमा में हथियार, गोला-बारूद और ड्रग्स भेज रहा है। इस गैंग में नछत्तर सिंह उर्फ मोती, सतनाम सिंह, गुरकीरत सिंह, अनमोलदीप सोनी, चरत सिंह, गुरजंत सिंह, महावीर सिंह, सुखदेव सिंह और दलजीत सिंह जैसे गैंगस्टर हैं। ये सभी तरनतारन जिले के ही अलग-अलग गांव से हैं।

Previous Post Next Post